English English Gujarati Gujarati Hindi Hindi Kannada Kannada Marathi Marathi Punjabi Punjabi Tamil Tamil Telugu Telugu
English English Gujarati Gujarati Hindi Hindi Kannada Kannada Marathi Marathi Punjabi Punjabi Tamil Tamil Telugu Telugu

Farooq Abdullah made this prediction regarding China know what he said for the country। चीन को लेकर फारूक अब्दुल्ला ने कर दी ये भविष्यवाणी, जानें देश के लिए क्या कहा?

फारूक अब्दुल्ला, पूर्व सीएम- India TV Hindi
Image Source : PTI
फारूक अब्दुल्ला, पूर्व सीएम

Farooq Abdullah on China Issue: वास्तविक नियंत्रण रेखा पर वर्ष 2020 से अब तक हुई दो हिंसक झड़पों के बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने भारत को चीन से सतर्क रहने की भविष्यवाणी की है। फारूक अब्दुल्ला ने बताया है कि चीन भारत के लिए किस प्रकार के इरादे रखता है। अब्दुल्ला ने चीन विवाद सहित जम्मू कश्मीर के मुद्दों पर कहा कि हमें अपना पाउडर सूखा रखना चाहिए, क्योंकि कभी भी कुछ भी हो सकता है।

फारूक अब्दुल्ला ने चीनी सैनिकों से हुई झड़प के मुद्दे पर मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम इस पर (संसद में) चर्चा चाहते थे। उस क्षेत्र और लद्दाख में भारत और चीन के बीच समस्या है। हम उम्मीद करते हैं कि बातचीत से इसका समाधान हो जाएगा, लेकिन हम यह नहीं कह सकते कि ऐसा होगा। उन्होंने कहा कि हमें अपना पाउडर (बारूद) सूखा रखना चाहिए, क्योंकि कभी भी कुछ भी हो सकता है।

कश्मीर पर दिया बड़ा बयान


फारूक अब्दुल्ला ने अपने संबोधन में कश्मीर को लेकर कहा कि जब तक हम अपना दिल नहीं खोलते और यह स्वीकार नहीं करते कि अतीत में गलतियां हुई थीं और हम भविष्य में नहीं करेंगे, तब तक कश्मीरी कभी भी आपका (भारत) हिस्सा नहीं होगा। फारूक अब्दुल्ला ने सरकार के जम्मू कश्मीर को लेकर किए जा रहे दावों पर कहा कि अगर जम्मू कश्मीर में शांति स्थापित हो रही है, तो फिर वहां के कर्मचारियों को धमकी क्यों दी जा रही है कि अगर आप वापस नहीं जाओगे तो नौकरी से निकाल देंगे सैलरी नहीं देंगे। ये कोई तरीका है। अब्दुल्ला ने ये भी कहा कि अगर कश्मीर में निवेश हो रहा होता तो कश्मीरी पंडित वापस क्यों नहीं जाते, लेकिन ऐसा है नहीं। उन्होंने कहा कि मुझे कश्मीरी पंडितों के राज्य से निकाले जाने के लिए जिम्मेदार बताया जाता है, लेकिन झूठ ज्यादा लंबा नहीं चलता। मुझे लगा कश्मीरी पंडितों को वापस लाया जाएगा पर वह आज तक वापस नहीं आ पाए।

जम्मू-कश्मीर के साथ लगाया भेदभाव का आरोप

फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि सरकार द्वारा सिर्फ 40 फीसदी पैसा कश्मीर में खर्च किया गया और 60 से 70 फीसदी जम्मू में खर्च किया गया, क्योंकि वह पैसा खर्च करना ही नहीं चाहते आखिर कैसे अर्थव्यवस्था बेहतर हो सकती है। सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज रोजाना नफरत फैलाई जाती है, जिससे चुनाव जीता जा सके मगर आप चुनाव तो जीत सकते हैं, लेकिन देश हार जाएंगे। अब्दुल्ला ने कहा कि मैं एक बात से आपको चेताना चाहता हूं कि अगर शेख हसीना आर्मी की मदद से लंबे समय तक बांग्लादेश की सत्ता में रहीं तो मुस्लिम मूवमेंट जोर पकड़ेगा। श्रीलंका के साथ भी आपको दिक्कत है। चारों तरफ मुश्किलें हैं, अगर हम अंदर से मजबूत होंगे तो कोई हमें हरा नहीं सकता, लेकिन अगर हम अंदर से कमजोर होंगे तो हम जंग नहीं जीत सकते।

कश्मीर में राहुल गांधी का करूंगा स्वागत

 फारूक अब्दुल्ला ने ये भी कहा कि जब राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा कश्मीर पहुंचेगी तो मैं राहुल गांधी को रिसीव कर उनका स्वागत करूंगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि उमर अब्दुल्ला भी यात्रा में शामिल होगा। आपको बता दें कि कोरोना के चलते केंद्र सरकार ने राहुल गांधी को अपनी यात्रा रद्द करने को कहा है, लेकिन राहुल का कहना है कि बगैर कश्मीर पहुंचे यह यात्रा खत्म नहीं होगी।

 

Latest India News

Source link

Recent Post

Live Cricket Update

You May Like This