English English Gujarati Gujarati Hindi Hindi Kannada Kannada Marathi Marathi Punjabi Punjabi Tamil Tamil Telugu Telugu
English English Gujarati Gujarati Hindi Hindi Kannada Kannada Marathi Marathi Punjabi Punjabi Tamil Tamil Telugu Telugu

14 more cheetahs will come to India from Africa, government gave important information in Parliament-अफ्रीका से भारत आएंगे 14 और चीते, सरकार ने संसद में दी अहम जानकारी

अफ्रीका से भारत आएंगे 14 और चीते- India TV Hindi
Image Source : FILE
अफ्रीका से भारत आएंगे 14 और चीते

अफ्रीका से जल्द करीब 14 और चीतों को भारत लाया जाएगा। इस बारे में सरकार ने संसद में अहम जानकारी दी है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्रीने बताया कि इसके लिए नामीबिया की सरकार के साथ एक एग्रीमेंट भी किया है। हाल के समय में मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में 8 चीते अफ्रीकी देश नामीबिया से लाए गए थे, जिनकी चर्चा देश विदेश में थी। 

नामीबिया सरकार से किया समझौता

अफ्रीका से जल्द ही 12 से 14 और चीतों को भारत लाया जाएगा। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने राज्यसभा में बताया कि  अगले पांच वर्षों में अफ्रीका से 12 से लेकर 14 चीतों को भारत लाया जाएगा। इसके लिए भारत सरकार ने नामीबिया की सरकार के साथ बाकायदा एक समझौता भी किया है। हाल ही में नामीबिया से आठ चीतों को भारत लाकर मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में छोड़ा गया था। इसमें 5 मादाएं और 3 नर शामिल थे। नामीबिया से कूनो नेशनल पार्क लाए गए सभी 8 चीते बड़े बाड़ों में शिफ्ट हो गए हैं, जहां वह शिकार करते हुए खुद को अच्छे से ढाल चुके हैं।

भारतीय मौसम में खुद को ढाल चुके हैं कूनो पार्क के चीते

कूनो में उन्हें लाकर पहले छोटे बाड़े में रखा गया। वहां के मौसम और अन्य दशाओं के अनुकूल खुद को ढाल लेने के बाद चीतों को बड़े बाड़े में रखा गया। उन्होंने वहां शिकार भी करना शुरू कर दिया। संसद में जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रोजेक्ट टाइगर के तहत भारत में चीतों की दोबारा वापसी के लिए 38.7 करोड़ रुपए आवंटित किए गए थे। यह परियोजना 2021/22 से शुरु होकर 2025/26 तक चलेगी।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Source link

Recent Post

Live Cricket Update

You May Like This